अचार का बिजनेस कैसे शुरू करें | Achar Business Plan in hindi | Achar banane ka business kaise kare.

Business ideas : अचार का बिजनेस कैसे शुरू करें : Pickle Business Plan( अचार का बिजनेस, कैसे शुरू करें, Pickle Business Plan, आम का आचार, मिर्च का अचार, अदरक का अचार, मिक्स अचार, अचार बनाने वाली मशीन, अचार बनाने की प्रक्रिया, अचार व्यापार लाभ)

Achar banane ka business: वैसे तो हर घर में अलग – अलग प्रकार के अचार उपलब्ध होते हैं। जिसे घर की महिलाए बनाती है या फिर बाजार से खरीद कर लाते हैं। अचार सबको अच्छा लगता है चाहें वो घर का बना हो या बाजार में मिलने वाला Packed Pickle। अचार कई प्रकार के होते हैं जैसे आम का अचार, नींबू, अदरक, आंवला, प्याज, लहसुन, मिर्च, मिक्स जैसे अनेकों अचार।

Achar ka business kaise kare

Contents

अचार एक ऐसा भारतीय खाद्य पदार्थ है जो चटपटा, खट्टा, मीठा जैसों स्वादों में उपलब्ध होता है। अचार लगभग हर घर में खाया जाता है, और इसे घर में भी बना सकते है लेकिन आज की भाग भाग की दुनिया में सब रेडीमेड उत्पाद बाजार में उपलब्ध है। ऐसे में अचार का बिजनेस हम अपने घर से शुरू कर सकते हैं।

अचार का बिजनेस का सफल होना उसके स्वाद पर निर्भर करता है, अच्छा स्वाद इसकी मांग में इजाफा करता है। क्योंकि अच्छा और अद्वितीय स्वाद के कारण ही आपका Product बाजार में अपनी पहचान बना सकता है। आप इस व्यवसाय को घर से ही और अकेले भी शुरू कर सकते हैं क्योंकि ये कम लागत में शुरू होने वाला बिजनेस है। तो आइए जानते है इसके लिए क्या क्या करना होगा –

Small Business Ideas: कम लागत में बिजनेस शुरू कर कमाए लाखो

अचार का बिजनेस शुरू करने से पहले जरूरी जानकारी (achar business plan)

अचार का बिजनेस हो या कोई अन्य बिजनेस, उसकी शुरुआत करने से पहले उसके बारे में पूरी जांच – पड़ताल होना अति आवश्यक है जैसे – Market Demand, Licence, Knowledge, Machine, Making Process, Selling जैसे महत्वपूर्ण बिंदुओं के बारे में जानकारी कर लेना जरूरी है।

अचार का बिजनेस का बाजार में मांग (Demand Of Pickle in Market)

इस बिजनेस की शुरुआत करने से पहले हमे स्थानीय बाजार में अचार की कितनी मांग है। और किस प्रकार के अचार की मांग ज्यादा है जैसे आम का अचार, नींबू का अचार, करेला, आंवला, अदरक, प्याज, लहसुन और मिर्च का अचार। आम तौर पर आम और नींबू के अचार की मांग ज्यादा होती है।

मौसम के हिसाब से आप अलग अलग अचार बनाकर बाजार में उपलब्ध करा सकते हैं। इसके साथ मुरब्बा, मीठा अचार या फलों का जैम भी बनाकर अचार के साथ उत्पाद बढ़ा सकते हैं। इससे आपके प्रोडक्ट की रेंज भी ज्यादा होगी।

अचार का बिजनेस शुरू करने के लिए जरूरी लाईसेंस (Licence)

अचार का बिजनेस को आरंभ करने के साथ साथ आपको निम्न लाइसेंस और पंजीकरण की आवश्यकता पड़ती है, जिसका आपके पास होना आवश्यक है।

  • GST REGISTRATION
  • FASAAI LICENSE
  • TRADE MARK REGISTRATION
  • UDYOG AADHAR

इन निम्न लिखित पंजीकरण और लाइसेंस लेने में आपका कुल खर्च लगभग 15 से 20 हजार रुपए के बीच में आ सकता है। इसके लिए आप स्वयं किसी CA से संपर्क कर सकते है।

Karauli Sarkar kanpur: जहां विज्ञान भी फेल हो जाता है।

Achar business in hindi

अचार के बिजनेस के लिए आपको कई प्रकार की जानकारियों की जरूरत पड़ सकती है। जैसे कच्चा माल कहा मिलेगा, अपने अचार को औरों से बिल्कुल अलग स्वाद देना प्राथमिकता होनी चाहिए। अचार को कैसे बनाएं।

वैसे बाजार के अचार में केमिकल का उपयोग होता है, लेकिन आप अपने अचार को बिना किसी केमिकल के और घर सा स्वाद कैसे दें जैसे विषयों पर जानकारी इकट्ठा कर बिजनेस की शुरुआत करें।

अचार बनाने वाली मशीन

आम तौर पर शुरुआत में मशीनों की इस्तेमाल नहीं करते, लेकिन जैसे ही मांग बढ़ती है उसके हिसाब से सप्लाई देने के लिए आपको कुछ मशीनों की दरकार पड़ेगी। औसत स्तर पर अचार बनाने में लगने वाली मशीन इस तरह की होंगी।

  1. कच्चे फलों या सब्जियों को कटने के लिए Pickle Cutter Machine।
  2. फल या सब्जियों को मसालों को एक साथ मिलाने के लिए Mixer Machine।
  3. अचार को वजन करने के लिए Digital Waight Machine।
  4. तैयार अचार को पैक करने के लिए Packing Machine।
  5. लेबल लगाने के लिए Labaling Machine।
  6. कुछ बड़े भगोने या बड़े टब।

ये सभी औसत स्तर पर बिजनेस करने के लिए आवश्यक मशीनें और तरीके हैं। वही आप जब इस बिजनेस को बड़े स्तर पर करते है तो आपको ऑटोमैटिक या सेमी ऑटोमैटिक मशीन के साथ पूरा सेट अप लगाना पड़ेगा। जिसमे लागत 5 से 10 लाख रुपए आ सकती है, लेकिन मुनाफा भी उतना ही ज्यादा होगा।

गेंदा के फूल की खेती कैसे करें और इससे कितनी कमाई हो सकती है।

अचार बनाने की प्रक्रिया

अचार बनाने से पहले कच्चे फलों या सब्जियों को अच्छी तरह धोकर सुखा लिया जाता है, उसके बाद उनमें हल्दी नमक के घोल में थोड़ी देर रखने के बाद धूप में सुखाकर मसालों और तेल में अच्छी तरह मिला लिया जाता है। उसके बाद पैकिंग या डिब्बे में अच्छी संरक्षित कर लिया जाता है।

अचार को लंबे समय तक सुरक्षित रखने के लिए सिरका  (VINEGOR) मिलाया जाता है, जिससे अचार खराब नही होता।

अचार कैसे बेचें (How to sale)

अचार को तैयार करने के बाद महत्वपूर्ण बिंदु है तैयार अचार को कहां और कैसे बेचे ? अचार का बिजनेस offline यानी इसके लिए आपको उन फुटकर दुकानों (Retail Shop) और थोक दुकानों (Wholesale Shops) पर सप्लाई करने का प्रयास करना चाहिए, जहां पर अचार की मांग ज्यादा रहती हो। इसके साथ ही आस पास के मार्केट में अपनी मजबूत पहुंच बनाने के लिए मार्केटिंग और सप्लाई पर विशेष जोर दें।

इसके अलावा बड़ी रिटेल चेन जैसे – Jio Mart, Big bazaar, Relaince Fresh, Spencer’s, में रखने के साथ अपने उत्पाद को ऑनलाइन प्लेटफार्म Amazon और flipkart पर भी बेचना शुरू कर बहुत अच्छा पैसा बना सकेंगे। आज के समय में अपनी पहुंच ज्यादा से ज्यादा ग्राहकों तक पहुंचाने के लिए आचार का बिजनेस Online ले जाना बहुत लाभप्रद सिद्ध होगा।

अचार का बिजनेस के लिए कच्चा माल

अचार को बनाने के लिए सबसे जरूरी है समय पर कच्चे फलों या सब्जियों की नियमित सप्लाई। इसके लिए किसी नजदीकी कच्चे फलों और सब्जी विक्रेता के साथ संपर्क बनाकर रखना भी जरूरी है।

अचार का बिजनेस

अगरबत्ती का बिजनेस कैसे करें।

अचारों में सबसे ज्यादा पसंद किया जाने वाला अचार आम और नींबू है। लेकिन अब मौसम के हिसाब से भी अचार बनाए जाने लगे हैं जैसे – गोभी, आंवला, गाजर, मूली, कटहल, प्याज और शलजम जैसे सब्जियों के अचार को भी पसंद किया जाने लगा है। वैसे आम के अचार का बिजनेस सबसे ज्यादा चलता है।

अचार बनाने की ट्रेनिंग कहां से लें

आपको अचार बनाना आता होगा तो अच्छी बात है लेकिन Pickle Making में अच्छी तरह पारंगत होने के लिए आप ट्रेनिंग भी ले सकते हैं। (MSME) यानी Micro Small Medium Enterprise Development Institute से Pickle Making में 6 हफ्ते का सर्टिफिकेट कोर्स कर सकते है। आवेदन करने के लिए यहां क्लिक करें।

जिसके लिए योग्यता कम से कम व्यक्ति का 8वीं उत्तीर्ण होना अनिवार्य है।  इस कोर्स को करने के बाद अचार बनाने की बारीकियां आप सिख सकते है। जो आपके Pickle Business के लिए लाभप्रद साबित होगा।

अचार का बिजनेस में लागत

जब हम इस बिजनेस को सामान्य स्तर पर शुरू करते हैं तो इसमें लगने वाली लागत 3 से 5 हजार हो सकती है। परंतु औसत स्तर पर इस बिजनेस को शुरू करने के लिए 50 हजार से 1 लाख रुपए का निवेश करना पड़ सकता है। जिसमे अचार व्यापार लाभ भी लागत के 30% से 40% तक हो सकता है।

जब हम अचार के बिजनेस को सेमी ऑटोमैटिक या ऑटोमैटिक मशीनों के द्वारा शुरू करने का प्लान कर रहे होते है तो 5 लाख से 10 लाख के बीच में निवेश करना पड़ सकता है। लेकिन उससे होने वाली लाभ भी अप्रत्याशित हो सकती है।

कपूर मेकिंग बिजनेस: एक उत्तम और सफल व्यापार बिजनेस

अचार का बिजनेस Benifits in hindi

अचार का बिजनेस में मुनाफा लगभग 30% से 50% तक हो सकता है। लेकिन इसके लिए आपका उत्पाद औरों से भिन्न होना चाहिए। क्योंकि बाजार में उपलब्ध अचारों के अनेक ब्रांड्स का स्वाद लगभग मिलता जुलता सा है।

इसलिए आप अपने अचार का स्वाद अन्य से अलग रखने का प्रयास करें जिससे Comptition की संभावना न रह पाए, और आपके ब्रांड की मांग बाजार और ग्राहकों में निरंतर बनी रहे। जिससे आप मुनाफे पर मुनाफा कमाते रहें।

अचार का बिजनेस कैसे करें  में अचार बिजनेस प्लान से संबंधित जरूरी सारी जानकारियों का उल्लेख किया गया है। जिससे आप Pickle Business को बहुत आसानी के साथ शुरू कर सकते है। ये लेख कैसा लगा, कमेंट करके जरूर बताएं।

FAQ-

Que.1- अचार मेकिंग बिजनेस क्या है ?

Ans.- कच्चे फलों या सब्जियों से बनाए जाने वाले अचार को बनाकर बेचना ही अचार मेकिंग बिजनेस है।

Que.2- अचार बिजनेस में अचार बनाने वाली मशीन की जरूरत कितनी है ?

Ans.- जब इस बिजनेस को औसत स्तर या उच्च स्तर पर करते है तो अचार बनाने वाली सेमी ऑटोमैटिक या ऑटोमैटिक मशीन की जरूरत पड़ेगी।

Que.3- अचार बनाने की ट्रेनिंग कहां से लें ?

Ans.- अचार बनाने की संपूर्ण जानकारी लेने के लिए आपको MSME यानी MICRO SMALL MEDIUM ENTERPRISE DEVELOPMENT INSTITUTE से 6 सप्ताह का सर्टिफिकेट कोर्स कर सकते हैं।

Que.4- अचार के बिजनेस में कितनी लागत लगेगी ?

Ans.- इस व्यवसाय में 5 हजार से 10 लाख रुपए की लागत आ सकती है, आप छोटा, औसत या उच्च स्तर के बिजनेस करने पर लागत निर्भर करती है।

Que.5- अचार का बिजनेस में कितना मुनाफा हो सकता है ?

Ans.- अचार के बिजनेस में लाभ 30% से 50% प्रतिशत तक हो सकता है। जो आपके उत्पाद की क्वालिटी और स्वाद पर निर्भर करेगा।

Leave a Comment