DRAUPADI MURMU BIOGRAPHY IN HINDI | द्रौपदी मुर्मू का जीवन परिचय |

Draupadi Murmu Biography in hindi, द्रौपदी मुर्मू का जीवन परिचय, द्रौपदी मुर्मू कौन हैं, [जीवनी, जाति, उम्र, पति, सैलरी, बेटी, बेटा, आरएसएस, शिक्षा, राष्ट्रपति, जन्म तारीख, परिवार, पेशा, धर्म, पार्टी, करियर, राजनीति, अवार्ड्स, इंटरव्यू] [caste, age, husband, income, daughter, rss, president, sons, qualification, date of birth, family, profession, politician party, religion, education, career, politics career, awards, interview, speech]

Draupadi Murmu का जन्म उड़ीसा के मयूरभंज जनपद में बैदापोसी नामक ग्राम में 20 जून 1958 को हुआ था। द्रौपदी मुर्मू संथाल जनजाति समूह से आती हैं। उन्होंने विपरीत परिस्थितियों के बावजूद अपना भविष्य संवारने के लिए काफी संघर्ष किया।

द्रौपदी मुर्मू के एक नए यात्रा की शुरुआत 21 जून 2022 को हुई, जब भारतीय जनता पार्टी नीत गठबंधन राजग की तरफ से उन्हें देश के अगले राष्ट्रपति पद के लिए नामित किया गया है। अगर इस बार वो राष्ट्रपति पद के लिए निर्वाचित हो जाती है तो देश की पहली आदिवासी राष्ट्रपति बनेंगी।

इससे पहले वो देश की पहली जनजातीय राज्यपाल झारखंड की रह चुकी है। द्रौपदी मुर्मू अपने राजनीतिक जीवन में विधायक से लेकर कई पदों पर आसीन रही हैं उनका शिक्षा से भी काफी गहरा नाता रहा है।

Draupadi Murmu
द्रौपदी मुर्मू का फोटो

द्रौपदी मुर्मू कौन हैं: Who is Draupadi Murmu

Draupadi Murmu (द्रौपदी मुर्मू) एक राजनीतिक व्यक्ति रही हैं उनकी राजनीतिक संबंध भारतीय जनता पार्टी से रहा है। द्रौपदी मुर्मू 1997 में रायरंगपुर नगर पंचायत के चुनाव में काउंसलर चुना गया था। इसके अलावा श्रीमती मुर्मू 2006 से लेकर 2009 तक भारतीय जनता पार्टी की एस. टी. मोर्चा की उपाध्यक्ष भी रहीं हैं।

मोबाइल और टेक से संबंधित त्वरित जानकारियों के लिए

जब उड़ीसा में भारतीय जनता पार्टी और बीजू जनता दल की संयुक्त सरकार चल रही थी। तब 6 मार्च 2000 से 6 अगस्त 2002 तक परिवहन और वाणिज्य मंत्री का दायित्व संभाला उसके बाद उन्हें मंत्रालय बदलकर मत्स्य और पशुपालन की जिम्मेदारी दी गई जिसको बखूबी निभाया।

श्रीमती द्रौपदी मुर्मू को 2007 में सर्वश्रेष्ठ विधायक के तौर पर नीलकंठ पुरस्कार से सम्मानित भी किया गया था। द्रौपदी मुर्मू का कार्यकाल MLA के तौर पर काफी सम्मानीय रहा है। जिसके लिए उन्हें उड़ीसा की राजनीति में काफी सम्मान भी प्राप्त था।

द्रौपदी मुर्मू का कार्यकाल

MLA2000 – 2009Rairangpur
MINISTER OF STATE (INDEPENDENT CHARGE)
6 march 2000-16 March 2016GOVT. OF ODISHA
GOVERNER18 may 2015 – 12 july 20219th Governer Of Jharkhand
NOMINATED FOR PRESIDENT OF INDIA21 june 2022NOMINATION
PRESIDENT OF INDIA25 July 2022On Chair

द्रौपदी मुर्मू की शिक्षा

द्रौपदी मुर्मू की ने अपनी स्नातक की पढ़ाई भुवनेश्वर के रमा देवी विमेंस कॉलेज से की थीं। इसके बाद उनका विवाह श्याम चरण मुर्मू से हुआ। द्रौपदी मुर्मू की तीन संताने हुई जिनमे दो बेटे और एक बेटी इति श्री (Draupadi Murmu Daughter) हुई। लेकिन दुर्भाग्यवश मृत्यु हो गई और उनके पति श्री श्याम चरण मुर्मू भी स्वर्गवासी हो गए।

2004 से 2009 तक द्रौपदी मुर्मू विधान सभा सदस्य भी रहीं। साथ ही उन्होंने पार्टी के एस. टी. मोर्चा के उपाध्यक्ष के तौर पर भी काम किया है। अनेक पदों पर काम करते हुए इनकी राजनीतिक जीवन में एक नई जिम्मेदारी दी गई।

द्रौपदी मुर्मू 2015 से 2021 तक झारखंड की राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू बनीं। जो भारतीय इतिहास में पहली जनजातीय महिला राज्यपाल बनी।

द्रौपदी मुर्मू Family

द्रौपदी मुर्मू का पालन पोषण उनके दादा ने किया था, तब उनके दादा पंचायती राज में अपने गांव के सरपंच हुआ करते थे। शिक्षा पूरी करने के बाद द्रौपदी मुर्मू का विवाह श्याम चरण मुर्मू से हुआ। जिनसे उनको तीन संताने हुई जिनमे दो पुत्र और एक पुत्री हुई। दुर्भाग्यवश उनके दोनों पुत्रों की असमय मृत्यु हो गई।

उनकी अब एकमात्र संतान जो इनकी बेटी इति श्री हैं। जिनका विवाह हो चुका है। द्रौपदी मुर्मू cast से आदिवासी जनजाति हैं और वो देश की पहली महिला आदिवासी जनजाति से आती है जो देश के सर्वोच्च पद पर विराजमान हैं।

राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू

द्रौपदी मुर्मू झारखंड की पहली जनजातीय महिला राजपाल बनीं जिनका कार्यकाल 2015 से 2021 तक रहा। वो बतौर झारखंड राज्यपाल दो मुख्यमंत्रियों के साथ काम।कर चुकी है। जिनमे तत्कालीन भाजपा सरकार के मुख्यमंत्री रघुवर दास और कांग्रेस झामुमो गठबंधन के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन का नाम आता है।

द्रौपदी मुर्मू राष्ट्रपति पद के चुनाव के लिए नामित

भाजपा नीत गठबंधन राजग की संयुक्त उम्मीदवार के तौर 21 जून 2022 को देश के 16वें राष्ट्रपति के चुनाव के लिए नामित किया गया। जिसके बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट करके बताया कि ” मुझे विश्वास है कि वह एक महान राष्ट्रपति होंगी।’

प्रधानमंत्री ने ये भी कहा कि द्रौपदी मुर्मू ने अपना जीवन समाज की सेवा में समर्पित किया है। उन्‍होंने गरीबों, दलितों के साथ हाशिए के लोगों को सशक्त बनाने के लिए अपनी ताकत झोंक दी। उनके पास समृद्ध प्रशासनिक अनुभव है और उनका कार्यकाल उत्कृष्ट रहा है। विश्वास है कि वह देश की एक महान राष्ट्रपति होंगी।

नरेन्द्र मोदी ने लिखा कि वो लोग जिन्होंने गरीबी का अनुभव किया है और कठिनाइयों का सामना किया हो वो द्रौपदी मुर्मू के जीवन से काफी ऊर्जा प्राप्त किया करते हैं साथ ही उनको नीतिगत मामलों की जानकर दयालु भी बताया।

द्रौपदी मुर्मू: भारत की राष्ट्रपति

द्रौपदी मुर्मू देश के 15वें राष्ट्रपति के रूप में चुनी जा चुकी हैं, वर्तमान राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद का कार्यकाल 24 जुलाई को समाप्त हो जायेगा। जिसके अगले दिन 25 जुलाई 2022 को द्रौपदी मुर्मू को देश के सर्वोच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश N V Ramana भारत के राष्ट्रपति की शपथ दिलाएंगे।

राष्ट्रपति चुनाव में द्रौपदी मुर्मू को कुल 6,78,803 यानी 64.09% वोट मिले जबकि विपक्ष के उम्मीदवार यशवंत सिन्हा को 3,80,177 यानी 35.97% वोट ही मिल पाए। श्रीमती मुर्मू के जीत में वोटो का अंतर 28% रहा।

इसे भी पढ़ें

करौली सरकार की कृपा के बारे में जानें।

नीम करोली बाबा जिनके भक्तो में दुनिया के बड़े बड़े लोग हुए।

FAq-

q- द्रौपदी मुर्मू कौन हैं?

Ans.- द्रौपदी मुर्मू स्वतंत्र भारत की एक राजनेता और अब देश की राष्ट्रपति हैं।

q- द्रौपदी मुर्मू के पति कौन थे?

Ans.- द्रौपदी मुर्मू के पति स्व. श्याम चरण मुर्मू थे।

Q- द्रौपदी मुर्मू का घर कहा है?

Ans.- द्रौपदी मुर्मू का घर उड़ीसा के मयूरगंज जनपद के बैदापोशी ग्राम में हैं।

q- द्रौपदी मुर्मू का जन्म कब हुआ था?

Ans.- 20 June 1958

“द्रौपदी मुर्मू का जीवन परिचय” पर ये लेख कैसा लगा, कमेंट करके जरूर बताएं। अगर ये लेख अच्छा लगे तो इसे अपने परिवार के सदस्यों और मित्रों के साथ जरूर शेयर करें। इस लेख से संबंधित जैसे ही कोई नई जानकारी प्राप्त होगी उसे तुरंत अपडेट किया जाएगा।

Leave a Comment