Puja Samagri Shop Business Plan | शुरू करें 5000 में, लाभ 30 % तक

पूजा सामग्री का बिजनेस, दुकान, सामान, लिस्ट, होलसेल, शॉप (Puja Samagri Business in Hindi) (Shop, Store, Investment, License, Profit, Raw Material)

Puja Samagri Shop Business: पूजा सामग्री बिजनेस

Contents

अपना देश भारत अनेक विविधताओं से भरा देश है जहा एक साथ अनेक धर्म, संप्रदाय के लोग मिल जुल कर रहते हैं, ऐसे में सबकी अपनी अपनी पूजा पद्धति है, सभी लोग अपने इष्ट की पूजा करते है वो भी पूरे विधि विधान से। विशेषतया हिंदू धर्म के मानने वाले पूजा पाठ में पूजा सामग्री का ज्यादा इस्तेमाल करते हैं। 

Puja samagri business ideas in india

ऐसे में पूजा सामग्री का बिजनेस  कम लागत में और ज्यादा मुनाफा देने वाला बिजनेस है, पूजा सामग्री की बिक्री पूरे साल होती है, और हर धर्म के लोग पूजा के स्टोर से खरीदारी करते हैं। पूजा सामग्री की सबसे ज्यादा सेल दीपावली के समय होती है। पूजा सामग्री का बिजनेस ( Puja Samagri Shop) वैसे तो काफी छोटा सा बिजनेस है लेकिन ज्यादा मुनाफा देने वाला व्यापार है।:पूजा सामग्री का बिजनेस कैसे शुरू करें:

अगर आप भी कोई बिजनेस (Business) शुरू करना चाहते हैं तो पूजा सामग्री का बिजनेस उनमें से एक हो सकता है, जिसमे आप चाहे तो 5000 रुपए लगाकर शुरू कर सकते हैं और जब आपका बिजनेस अच्छी तरह से चलने लगे, तब उसमे ज्यादा पैसे लगाकर बड़ा रूप दे सकते हैं।

गांव में कम लागत के साथ बिजनेस शुरू करें

Puja Samagri Shop Business: दुकान के लिए कैसी लोकेशन चाहिए:

सर्वप्रथम इस बिजनेस ( Shop Business) की शुरुआत करने के लिए ऐसी लोकेशन देखनी होगी, जहां पर ग्राहक ज्यादा से ज्यादा आए, जैसे बाजार, या फिर मंदिर, क्योंकि यही वो जगह हो सकते है जहां पर पूजा सामग्री की बिक्री ज्यादा होती है। फिर एक दुकान की जरूरत पड़ेगी, जिसे आप स्वयं ढूंढे, या किसी परिचित के द्वारा। या किसी ब्रोकर की मदद ले सकते हैं जो आपके पसंद की लोकेशन में दुकान दिलाने में मदद कर सकता है, जिसके लिए वो थोड़ा कमीशन चार्ज कर सकता है। 

दुकान की लोकेशन के साथ आपको ये भी ध्यान रखना होगा कि जहां आप दुकान खोलेंगे, वहा पहले से पूजा सामग्री की दुकानें है या नही, अगर हैं तों वहां बिक्री कैसी है। 

पूजा सामग्री की दुकान खोलने के लिए लिए समान कहां से खरीदें?

अपनी दुकान के लिए आप अपने शहर के थोक बाजार से खरीदारी कर सकते हैं, क्योंकि अच्छे दर पर वस्तुएं मिल जाए तो आपका मुनाफा भी अच्छा होगा। आप चाहें तो कोलकाता या दिल्ली के पूजा सामग्री होलसेल मार्केट Delhi सदर बाज़ार से खरीदारी कर सकते हैं जहां बहुत कम मूल्यों पर वस्तुएं थोक में आसानी से मिल जाती हैं।

इसके अलावा अगर आप उत्तर प्रदेश, बिहार से हैं तो पूजा सामग्री होलसेल मार्केट लखनऊ जाएं, अगर आप राजस्थान से है तो अपने नजदीकी शहर जिसे पिंक सिटी भी कहा जाता है वहां के पूजा सामग्री होलसेल मार्केट जयपुर में जाइए जहां काफी कम कीमतों पर पूरे दुकान की हर वस्तु बेहद कम कीमत पर मिलती है। गुजरात, गोवा और महाराष्ट्र के लिए पूजा सामग्री होलसेल मार्केट मुंबई नजदीक रहेगा।

पूजा सामग्री की दुकान के लिए क्या लाइसेंस अनिवार्य है ?

अगर आप छोटे स्तर पर शुरू कर रहे हैं तब किसी भी लाइसेंस की आवश्यकता नहीं है, लेकिन आप इस बिजनेस को थोक या बड़े स्तर पर करते है तब आपको GST REGISTRATION अनिवार्य है, लेकिन छोटी दुकान कम लागत के साथ आप आसानी से खोल सकते हैं।

पूजा सामग्री की दुकान खोलने में कितनी लागत लगेगी।

आप इस बिजनेस को 5000 रुपए से भी शुरू कर सकते हैं पूजा के समान की दुकान के लिए आप अपनी सामर्थ्य के हिसाब से पैसा लगा सकते है, लेकिन मेरा मानना है कि शुरू में कम से कम पैसे लगाएं।

गांव में अत्याधुनिक खेती से लाखों कमाने के अवसर

पूजा सामग्री की दुकान से आमदनी कितनी होगी।

अगर आप की औसत बिक्री 3000/- रुपए की है तो आप 25 से  30% की दर से 900 रुपए प्रतिदिन के हिसाब से कमाई कर पाएंगे जो महीने के 27000/- रुपए होते हैं। इस प्रकार कम लागत में ज्यादा मुनाफा कमा सकते हैं।

आप अपने मुनाफे को दीवाली या त्योहारी मौसम में ज्यादा बढ़ा सकते है। आप अपनी पूजा सामग्री (Puja Samagri items) की दुकान के साथ देवताओं की मूर्तियां, झालर, नए नए डिजाइन के लाइट्स, रंगीन व सुगंधित मोमबत्तियां, झूमर,अनेक सजावटी सामान जैसे उत्पाद बेचकर अपने फायदे को और ज्यादा बड़ा कर सकते हैं। 

अपने दुकान की बिक्री बढ़ाने के लिए क्या करें:

बाजार में बने रहने और बिक्री बढ़ाते रहने के लिए आपको अपने दुकान का प्रचार प्रसार भी समय समय पर करते रहना होगा, जैसे आम दिनों या मुख्यताः त्योहारों में बैनर पोस्टर आकर्षक ऑफर के साथ लगवाना होगा,और अपने आस पड़ोस के लोगो को भी अपनी दुकान के बारे में बताइए, कहते है Mouth Publicity is Top Marketing Tool इस प्रकार आप ज्यादा से ज्यादा ग्राहकों को अपने साथ जोड़कर रख पाएंगे।

इसके अलावा आप अपनी दुकान को Google My Business के जरिए गुगल पर जोड़ सकते हैं जिससे अगर कोई सर्च करेगा कि “पूजा सामग्री की दुकान Near me” तो आपकी दुकान गूगल सर्च में टॉप पर दिखेगी। साथ ही Puja Samagri buy online सेवा से भी जोड़ सकते है, जिससे ग्राहक आपसे पूजन सामग्री फोन पर ऑर्डर देकर मंगवा सके।

साथ ही अपने प्रतियोगियों पर नजर बनाकर रखनी चाहिए, जैसे आप एक पीतल के दीपक को 95 रुपए में बेच रहे हैं, वही आपका प्रतियोगी उसी दीपक को 85 रुपए में बेच रहा है तो इसमें आपका नुकसान हो सकता है, आस पास के दुकानदार कौन से वस्तु किस दर पर बिक रही है, इसका ध्यान रखना बहुत ही जरूरी है।

पूजा सामग्री के बिजनेस में Risk Factor:

आम तौर पर इस बिजनेस में कोई खास रिस्क नहीं है क्यों कि पूजा – प्रार्थना लगभग हर व्यक्ति करता है, तो उसको पूजा सामग्री भी चाहिए। जैसे – दीपक के लिए घी या तिल का तेल, अगरबत्ती, कर्पूर, ज्योति, फूलमाला और प्रसाद जैसे अनेक उत्पाद। इसीलिए पूजा सामग्री के बिजनेस में 5000/- से शुरुआत कर मुनाफा कमाते हुए व्यवसाय को बढ़ाइए।

टी स्टाल शुरू कर क्या लाखो कमाया जा सकता है जानिए कैसे

पूजा सामग्री के बिजनेस में कितने स्टाफ होने चाहिए।

शुरू में आप स्वयं दुकान संभाल सकते है, अगर ज्यादा ग्राहक आने लगे तो शुरू में एक या दो स्टाफ रख कर काम संभाल सकते है, या आप अपने घर के सदस्यों जैसे – पुत्र, भाई या पिता से सहयोग ले सकते हैं, जो एक बेहतर विकल्प होगा, आप अपने बिजनेस के साथ रोजगार भी दे सकते हैं।

पूजा सामग्री लिस्ट: दुकान में कौन – कौन सी वस्तुएं रख सकते हैं।

आप अपनी पूजा की दुकान में पूजा से संबंधित अनेक प्रकार की वस्तुएं रख कर बेच सकते हैं, जैसे –

  • भगवान की मूर्ति ( पीतल, तांबा, तस्वीर )
  • घंटा, घंटी और घड़ियाल
  • भगवान के लिए धारण योग्य वस्त्र
  • अक्षत
  • सिंदूर
  • कुमकुम
  • गुलाल
  • चंदन
  • रक्षा सूत्र
  • पान सुपारी
  • शहद
  • गाय का घी
  • दही
  • दूध
  • पीला एवम् लाल सिंदूर
  • कर्पूर
  • अगरबत्ती
  • धूप बत्ती
  • गंगा जल
  • पुष्प
  • दुर्वा 
  • गुड़
  • हवन सामग्री
  • आम की लकड़ी
  • लौंग
  • इलाइची
  • अबरक
  • इत्र
  • मिष्ठान
  • जनेऊ
  • आम्र पल्लव
  • रुई की बत्ती
  • तिल का तेल
  • पंचमेवा
  • मिट्टी का दीपक
  • कलश ( मिट्टी, पीतल )
  • लाल और पीला कपड़ा ( 1.25 मीटर )
  • छिलका नारियल सुखा ( हवन के लिए )
  • नारियल (पूजा के लिए)
  • हल्दी
  • पीतल या तांबे के पूजा में उपयोग होने वाले बर्तन
  • धोती
  • अंगोछा या गमछा

आप इस पूजा सामग्री लिस्ट को Print कराकर रख लें जिसे आप ग्राहकों को दे सकें, जिससे आपके साथ ग्राहकों को भी सहूलियत रहे। इसके अलावा पूजा सामग्री लिस्ट PDF में भी रखे जिसे आप ग्राहकों के साथ व्हाट्सएप के जरिए शेयर कर सकें।

आप जहां दुकान खोलने जा रहे है उस जगह फल की दुकान न हो तो आप अपने दुकान में फल भी रख कर बेच सकते हैं। मौसमी फलों के साथ साल भर उपलब्ध रहने वाले फल भी रखिए। जैसे –

  • केला
  • सेव
  • संतरा
  • शकर कंद
  • अमरूद
  • अनार
  • अंगूर

पूजा सामग्री के बिजनेस में मूलतः इन्ही वस्तुओ की आवश्यकता पड़ती है। और शुरू में इन वस्तुओ को थोक विक्रेता के यहां से खरीदने में ज्यादा धन की भी आवश्यकता नहीं पड़ेगी। सदैव थोक विक्रेता से ही अपने दुकान के लिए वस्तुएं खरीदे, जिससे ज्यादा से ज्यादा बचत हो।

इसके अलावा सजावट की वस्तुएं भी दुकान में रख सकते हैं, जैसा रंगीन लाइट, झूमर, झालर, जैसे अनेक हैंडीक्राफ्ट और इलेक्ट्रॉनिक उत्पाद जो पूजा से संबंधित हो।

जब आपको ये लगे की आप का काम बढ़ता जा रहा है तो अपनी दुकान को बड़े स्टोर में तब्दील करे, थोक विक्रेता के साथ आप चाहे तो Indiamart.com से थोक में पूजा की सारी सामग्री मंगाकर रिटेल बिजनेस के साथ थोक बिजनेस भी शुरू कर सकेंगे, और अपने बाजार या आस पास के बाजारों में सप्लाई करा सकेंगे।

पूजा सामग्री बिजनेस आइडिया इन हिंदी

महत्वपूर्ण बातें –

आप अपने पूजा सामग्री की दुकान के साथ पूजा सामग्री बिजनेस एजेंसी भी शुरू कर सकेंगे, जिसके लिए अच्छा पैसा होना आवश्यक है। अगर आपके पास निवेश करने के लिए पैसा है तो आप पूजा सामग्री होलसेल एजेंसी शुरू कर अच्छा पैसा बना सकते है। अगर पर्याप्त पैसे नहीं है तो आप पूजा सामग्री बिजनेस ऋण योजना के तहत किसी भी बैंक से लोन ले सकते है।

मुझे पूर्ण विश्वास है कि small Business ( Puja Samagri Shop Business) में पूजा सामग्री का बिजनेस कैसे करें, लेख में हर बिंदु पर प्रकाश डालने का भरपूर प्रयास किया है, ये लेख आपके लिए काफी लाभप्रद रहने वाला है, आपको ये लेख कैसा लगा, कमेंट करके जरूर बताएं।

FAQ-

Q- puja Samagri Shop Business के लिए fassai लाइसेंस की जरूरत पड़ती है?

Ans. जी नहीं।

Q- Puja Samagri Shop कहां खोलें?

Ans.- ऐसे तो बाजार में खोल सकते हैं लेकिन किसी मंदिर के पास खोलने से बिक्री हमेशा और ज्यादा मुनाफा होता रहेगा।

Q- Puja Samagri Shop Business के लिए क्या GST अनिवार्य होगा?

Ans. अगर आप व्होलसेल से या ऑनलाइन खरीदते है तो फिर GST जरूरी है।

Leave a Comment